ShriMahaLakshmiRatnaKendra
Sale!

2 मुखी रुद्राक्ष गोल आकार नेपाली असली जैसे भगवान शिव Nepali 2 mukhi 2 Face Rudraksha Certified

Rs.4,500.00

दो मुखी रुद्राक्ष की प्राण प्रतिष्ठा करके भेजा जाता है फिर भी साधक चाहे तो गंगाजल से स्नान कराकर धारण कर सकता है 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ – दांपत्‍य जीवन को सुखी बनाने के लिए,घर-परिवार में शांति बनी रहती है,कर्ज दो मुखी रुद्राक्ष की प्राण प्रतिष्ठा करके भेजा जाता है फिर भी साधक चाहे तो गंगाजल से स्नान कराकर धारण कर सकता है 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ – दांपत्‍य जीवन को सुखी बनाने के लिए,घर-परिवार में शांति बनी रहती है,कर्ज से मुक्‍ति मिलती है,मान-सम्‍मान में बढ़ोत्‍तरी होती है। दो मुखी रुद्राक्ष सीधे सीधे भगवान शिव और माँ पारवती का स्वरुप है | इसे अर्धनारीश्वर का स्वरुप भी कहा गया है | इस रुद्राक्ष को धारण करने से शिव और शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त होता है
कर्क राशि वाले जातकों के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत उत्‍तम माना जाता है।कैसे करें प्रयोग 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट -दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट को धारण करने का मंत्र “ॐ नमः शिवाय” है यह दो मुखी रुद्राक्ष स्मृति हानि, हृदय की समस्याओं, श्वसन, यकृत और श्वास समस्या जैसी बीमारियों को ठीक करने में मदद करता हैइसको धारण करने से दांपत्य जीवन सुखी रहता है।जिन लोगों को अनिद्रा की शिकायत है उन्हे दो मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए
यह पहनने वाले के अन्तर्मन को ठीक करता है और सदैव पित्त को शांत रखता हैगर्भवती महिलाओं को इस रुद्राक्ष की आराधना करनी चाहिए। इससे काफी लाभ मिलता है।यदि यह प्रतिकूल स्थिति में है तो यह चंद्रमा के प्रभाव को दूर करता है
यह धारक की भावनात्मक स्थिरता में सुधार करता है
से मुक्‍ति मिलती है,मान-सम्‍मान में बढ़ोत्‍तरी होती है। दो मुखी रुद्राक्ष सीधे सीधे भगवान शिव और माँ पारवती का स्वरुप है | इसे अर्धनारीश्वर का स्वरुप भी कहा गया है | इस रुद्राक्ष को धारण करने से शिव और शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त होता है
कर्क राशि वाले जातकों के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत उत्‍तम माना जाता है।कैसे करें प्रयोग 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट -दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट को धारण करने का मंत्र “ॐ नमः शिवाय” है

Out of stock

Add to Wishlist
Add to Wishlist

Description

दो मुखी रुद्राक्ष की प्राण प्रतिष्ठा करके भेजा जाता है फिर भी साधक चाहे तो गंगाजल से स्नान कराकर धारण कर सकता है 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट के लाभ – दांपत्‍य जीवन को सुखी बनाने के लिए,घर-परिवार में शांति बनी रहती है,कर्ज से मुक्‍ति मिलती है,मान-सम्‍मान में बढ़ोत्‍तरी होती है। दो मुखी रुद्राक्ष सीधे सीधे भगवान शिव और माँ पारवती का स्वरुप है | इसे अर्धनारीश्वर का स्वरुप भी कहा गया है | इस रुद्राक्ष को धारण करने से शिव और शक्ति का आशीर्वाद प्राप्त होता है
कर्क राशि वाले जातकों के लिए दो मुखी रुद्राक्ष अत्‍यंत उत्‍तम माना जाता है।कैसे करें प्रयोग 2 मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट -दो मुखी रुद्राक्ष पेंडेंट को धारण करने का मंत्र “ॐ नमः शिवाय” है यह दो मुखी रुद्राक्ष स्मृति हानि, हृदय की समस्याओं, श्वसन, यकृत और श्वास समस्या जैसी बीमारियों को ठीक करने में मदद करता हैइसको धारण करने से दांपत्य जीवन सुखी रहता है।जिन लोगों को अनिद्रा की शिकायत है उन्हे दो मुखी रुद्राक्ष धारण करना चाहिए
यह पहनने वाले के अन्तर्मन को ठीक करता है और सदैव पित्त को शांत रखता हैगर्भवती महिलाओं को इस रुद्राक्ष की आराधना करनी चाहिए। इससे काफी लाभ मिलता है।यदि यह प्रतिकूल स्थिति में है तो यह चंद्रमा के प्रभाव को दूर करता है
यह धारक की भावनात्मक स्थिरता में सुधार करता है

Additional information

Weight2.5 g
Dimensions1.9 × 1.8 × 1.7 cm